मुहतोड़ जवाब | Akbar Birbal short stories in Hindi written

Akbar Birbal short stories in Hindi written – एक बार की बात है जब अकबर अपने दो बेटो के साथ एक तालाब में नहाने जाते है और हमेशा की तरह उनके साथ बीरबल भी होता है ।

बीरबल को नहाना नहीं था तो अकबर और उनके दोनों बेटो ने अपने कपड़े बीरबल को दे दिए और तालाब में नहाने के लिए उतर गए ।

नहाते हुए अकबर बीरबल को अपने कंधे में कपड़े लादे खड़े हुए देखकर मन ही मन सोचते है “कैसा मूर्ख है ये बीरबल, इतनी गर्मी में इतने बढ़िया ठन्डे पानी में आकर नहाने का मज़ा लेना छोड़कर पानी के बहार कपड़े लिए खड़ा हुआ है ।”

फिर अकबर बीरबल को छेड़ते हुए कहते है “बीरबल, तुम्हारे कंधो पर तो लगभग एक गधे का बोझ आ पड़ा है ।”

अकबर की बात सुनकर बीरबल पहले तो चौंक गया की बादशाह अकबर मुझे गधा कह रहे है लेकिन फिर वह समझ गया की वे उसे छेड़ रहे है और ऐसे अवसरों पर बीरबल कभी नहीं चुकता था और उसने अकबर को सूझ-बूझ से जवाब देते हुए कहा “जहापनाह, मेरे ऊपर एक गधे का नहीं तीन-तीन गधो का भार आ पड़ा है ।”

बीरबल का जवाब सुनकर अकबर की बोलती बंद हो जाती है क्योकि बीरबल ने अकबर की बात का मुहतोड़ जवाब दिया था ।

इस Akbar Birbal short stories in Hindi written – मुहतोड़ जवाब कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि अगर समझदारी से दिमाग का उपद्योग किया जाए तो हर सवाल का उचित जवाब दिया जा सकता है ।

Also read – Hindi story for class 1 – लोमड़ी की चालाकी

Also read – Animal story in Hindi – भालू और लालची बन्दर

Also read – Friendship story in Hindi – चार बहानेबाज़ दोस्त

Also read – Hindi story for class 2 with moral pdf included – आत्मविश्वास

Also read – Story for kids in Hindi pdf included | ईमानदार बच्चे की कहानी

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्।

Leave a Comment

error: Content is protected !!