अंधे की समझदारी – Cartoon kahani wala

Cartoon kahani wala – एक बार की बात है जब एक गांव में एक अँधा व्यक्ति रहता था । वह अँधा व्यक्ति अक्सर रात के अँधेरे में अपने साथ लालटेन रखता था ।

एक रात वह अँधा व्यक्ति रात के अँधेरे में अपने साथ लालटेन साथ में लेकर जा रहा था। तभी उसके पास से उसे जानने वाले कुछ व्यक्ति गुजरे और उस अंधे आदमी के हाथ में लालटेन देखकर वे सभी व्यक्ति अंधे व्यक्ति का मजाक उड़ाते हुए कहते है कि जब आप देख ही नही सकते हो तो भला आपके हाथ में यह लालटेन होने का क्या फायदा ?

इसपर उस अंधे व्यक्ति ने नम्रतापूर्वक कहा कि यह लैम्प मेरे लिए नही है, यह लैम्प आप लोगो के लिए है मै तो अँधेरे में भी चल सकता हुं क्योंकि मेरा जीवन तो हमेशा रात ही होती है जिससे मुझे अँधेरे में जीने की आदत पड़ चुकी है ।

लेकिन आप लोग तो सिर्फ उजाले में ही देख सकते हो और आप लोगो को अँधेरे में देखने में समस्या होती है, इसलिए आप लोग मुझे अँधेरे में चलते हुए धक्का न दे दो इसलिए यह लालटेन आप लोगो के लिए मै अपने साथ रखता हुं।

अंधे व्यक्ति की यह बात सुनकर वे सभी व्यक्ति अपने आप पर शर्मिंदा हुए और उस अंधे व्यक्ति से क्षमा प्रार्थना की और सबने निर्णय किया की अब भविष्य में कभी भी बिना सोच-विचार कुछ भी नही बोलेगे और किसी का मज़ाक नहीं उड़ाएंगे ।

Also read – स्वर्ग की सैर – Stories Tenali Raman in Hindi

Also read – अनैतिकता की मिठाई – Hindi kahani cartoon

Also read – चतुर बीरबल | Akbar Birbal Hindi short story

Also read – व्यापारी और उसका गधा – Story Hindi Cartoon

Also read – घमंडी चूहा | Panchatantra short stories in Hindi

Also read – पिता, पुत्र और गधे की सवारी – Panchatantra stories Hindi

Also read – शिकारी, राजा और तोता – Panchatantra stories in Hindi pdf

Also read – दाने दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम – Hindi cartoon kahani

Also read – तेनाली रमन और राजा के घोड़े – Stories of Tenali Raman in Hindi

अगर आपको Cartoon kahani wala – अंधे की समझदारी कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्