धन और चिंता – Cartoon wala kahani

Cartoon wala kahani – एक बार की बात है जब एक गांव में एक गरीब मोची और एक धनी व्यापारी, दोनो पड़ोसी थे। मोची के घर में ही जूते चप्पल सीने की छोटी सी दुकान थी। काम करते-करते वह अक्सर मौज में आकर गाने लगता। वह बहुत मस्तमौला आदमी था। उसे कभी अपने घर के दरवाजे खिड़कियाँ बंद करने की जरूरत महसूस नहीं हुई ।

वह रात को भगवान की पूजा करता और मजे से सो जाता। अमीर आदमी इस गरीब, हँसमुख मोची की ओर ईर्ष्या भरी नजर से देखा करता। गरीब होने के बावजूद उस मोची को किसी बात की चिंता नही थी। जबकि अमीर आदमी को तरह-तरह की चिंताएँ सताती रहती थीं।

गाना-गुनगुनाने की बात तो दूर वह खुलकर हँस भी नही सकता था। उसे हमेशा अपनी तथा अपने धन की रक्षा की चिंता सताती रहती थी। रात को वह अपने मकान के सारे दरवाजे खिड़किया बंद कर लेता था। फिर भी, उसे चैन की नींद नही आती थी

एक दिन अमीर आदमी ने मोची को अपने घर बुलाया। उसने उसे पाँच हजार रूपए दिए और कहा, “लो, ये पैसे रख लो। इन्हे अपने ही पैसे समझो। इन पैसो को मुझे लौटाने की जरूरत नही है।

इतने पैसे पाकर गरीब आदमी को पहले तो बड़ी खशी हुई पर जल्दी ही इन पैसो ने उसके शांत और निश्चिंत जीवन में खलल पैदा कर दी। पैसे पाने पर वह जीवन में पहली बार उसने अपने घर का दरवाजा और खिड़कियाँ बंद कर उनमें चटखनी लगाई

यह देखने के लिए कि पैसे सुरक्षित हैं या नही रात को कई बार उसकी नींद टूटी।दूसरे दिन सवेरे गरीब मोची अपने धनी पड़ोसी के घर पहुँचा। उसने व्यापारी को पाँच हजार रूपए लौटाते हुए हाथ जोड कर कहा, “सेठजी, मेहरबानी करके आप अपना यह पैसा वापस ले लीजिए, इन पैसो ने तो मेरी नींद ही ख़राब कर दी है और मै हँसाना, गाना सब भूल गया हूँ ।

इस Cartoon wala kahani – धन और चिंता कहानी से हमें यह सीखने को मिलता है कि ऐसा ज़रूरी नहीं है कि पैसे से हमें सारी ख़ुशी मिल जाए, किसी के लिए यह चिंता का विषय भी बन सकता है ।

Also read – मेहनत का फल | Short story for kids in Hindi

Also read – सत्य की जीत | Moral stories in Hindi for class 1

Also read – एक घमंडी पेड़ | Moral stories in Hindi for class 3

Also read – भेद-भाव की आदत | Moral stories in Hindi for class 2

Also read – चालाक व्यापारी | Short moral stories in Hindi for class 8

Also read – चालाक व्यापारी | Short moral stories in Hindi for class 8

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्।

error: Content is protected !!