किसान और जादुई मटका | Hindi small story for kids

Hindi small story for kids – एक बार की बात है जब एक राज्य में एक किसान रहता था । किसान बड़ा ही आलसी था और हमेशा काम करने से बचता था और उसकी इस आदत से उसके खेत में अच्छी फसल भी नहीं उगती थी ।

एक दिन किसान अपने खेत में बैठा सोच रहा था कि उसके खेत में अच्छी फसल नहीं उगी है और वह राजा को मासिक कर कैसे देगा ।

ऐसा सोचते-सोचते किसान खेत में काम कर रहा था तभी कुदाल चलाते हुए ज़मीन से उसे एक अजीब सी आवाज़ आती है, किसान सोच में पड़ जाता है कि यह आवाज़ कैसे है और वह फिर से जमीन पर कुदाल मारता है और वह आवाज़ फिर से आती है ।

किसान उस जगह पर अच्छे से खोदता है तो देखता है कि वहा पर एक बड़ा सा मटका दबा हुआ है । किसान मटका बाहर निकालता है और सोचता है कि चलो इसे बेचकर कुछ पैसे मिल जाएंगे जिससे मुझे कर चुकाने में थोड़ी सहायता मिल जाएगी और वह उस मटके को अपने घर ले आता है ।

घर पर पहुंचते ही किसान उस मटके को घर के बाहर आंगन में ही रख देता है क्योकि मटके में मिटटी लगी हुई थी और अपनी कुदाल भी उसी में छोड़ देता है ताकि बाद में आकर दोनों को एकसाथ धोकर अंदर ले जाए ।

थोड़ी देर बाद किसान जब बाहर आता है तो देखता है कि उस मटके के अंदर एक नहीं बल्कि दस कुदाल रखे हुए है ।

किसान आश्चर्य में पड़ जाता है और सोचता है कि ये कैसे हो गया, उसके तो एक ही कुदाल मटके में राखी थी, ये बाकि की कुदाल कहा से आई ।

पहले तो किसान को लगता है कि शायद किसी ने उसके साथ बदमाशी की है और वह मटके कोअच्छे से पानी में धोकर एक कपडे से साफ़ कर के घर के अंदर ले जाता है लेकिन वह जिस कपडे से साफ़ कर रहा था उसे मटके के अंदर ही भूल जाता है और जब थोड़ी देर बाद वह देखता यही तो मटके के अंदर एक नहीं बल्कि वैसा ही दस कपडे का टुकड़ा रखा हुआ है ।

किसान को इस बार समझ में आ जाता है कि वह मटका जादुई है और उसमे कुछ भी सामान डालने पर एक का दस हो जाता है ।

फिर सबसे पहले किसान उस मटके में एक केला डालता है और एक केले का दस केला हो जाता है जिसे देख किसान खुश हो जाता है और उस मटके में अलग खाने की चीज़े और घरेलु उपयोग की चीज़े डालता है ।

कुछ दिनों बाद किसान का घर सामान से भर जाता है जिसे देखकर किसान के पडोसी भी समझ नहीं पाते कि किसान के पास इतने सारे सामान खरीदने के पैसे कहा से आए और एक दिन वे महल के सिपाहियों से किसान की शिकायत कर देते है ।

फिर एक दिन कुछ सिपाही किसान के घर आते है उसी समय किसान मटके में सेब डालकर उसे एक का दस कर रहा था और सिपाही किसान को ऐसा करते हुए देख लेते है और तुरंत उसे मटके के साथ राजा के पास ले जाते है ।

किसान राजा को साडी बात बताता है लेकिन राजा किसान की बात नहीं मानता और मटके को ज़मीन में रखकर उसकी अच्छे से जाँच करता है और ऐसा करते हुए राजा जैसे ही मटके में अपना सिर डालता है वह लड़खड़ाकर मटके के अंदर गिर जाता है ।

राजा का आधा शरीर मटके अंदर गिर जाने के कारन राजा भी एक से दस हो जाता है और अब वहा पर दस राजा खड़े होते है ।

वहा खड़े सारे लोग हैरान हो जाते है और सोच में पड़ जाते है कि उनमे उनका असली राजा कोण सा है और इसी बीच सारे राजा आपस में लड़ना शुरू कर देते है और हर राजा कहता है कि वही असली राजा है ।

किसान एक घबरा जाता है और मटका लेकर वहां से भाग जाता है । वहां से निकलकर किसान समझ जाता है कि वह मटका एक मुसीबत है और वह उसे लेकर एक गहरी खाई के पास जाता है और वहां से नीचे फ़ेंक देता है   ।

अंत में किसान को एहसास हो जाता है कि उसे खेत में ही मेहनत कर घन कमाना है ना कि किसी जादुई तरीके से ।

इस Hindi small story for kids – किसान और जादुई मटका कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें अपना हर काम पूरी मेहनत से करना चाहिए बिना किसी प्रकार का आलस दिखते हुए क्योकि आलास करने वाले व्यक्ति का काम कभी भी सफल नहीं होता है

Also read – Moral Hindi short story – अच्छे कर्म का फल

Also read – Hindi short story for kids – बदक और आज्ञाकारी बच्चे

Also read – Moral stories in Hindi for kids – चींटी और घमंडी हाथी

Also read – Small story for kids in Hindi – तीन मछलियों की कहानी

Also read – Short story in Hindi with moral values – ईमानदार गाय

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्।

error: Content is protected !!