अपना-अपना मत | Hindi story with moral for class 6

Hindi story with moral for class 6 – एक बार की बात है जब एक गांव में चार दोस्त रहते थे, चारो दोस्त अंधे थे। एक दिन वे चारो दोस्त एक जगह बैठ कर बाते कर रहे थे तभी वहा पर एक हाथी वाला हाथी ले कर आता है और आस पड़ोस के लोग शोर मचाते है कि हाथी आया है, हाथी आया है ।”

लोगो की आवाज़ सुनकर चारो दोस्त भी बाहर आते है और हाथी के पास जाते है उन्होंने कभी हाथी नहीं देखा था तो वे हाथ वाले से कहते है “भैया, क्या हम हाथी को छू सकते है ?”

हाथी वाला हां में जवाब देता है ।

चारो दोस्त हाथी को छू कर अनुमान लगते है कि हाथी कैसा होता है ।

पहला दोस्त हाथी के पैर को छूता है और कहता है “हाथी एक खम्बे की तरह होता है लम्बा और मोटा सा ।”

दूसरा दोस्त हाथी के सूंड को छूता है और कहता है “नहीं, हाथी तो एक बड़े सांप की तरह होता है लम्बा और लचीला ।”

तीसरा दोस्त हाथी के पेट को छूकर बोलता है “नहीं नहीं, हाथी तो एक दीवार की तरह है, एकदम कठोर और मजबूत ।”

चौथा दोस्त हाथी के दांत छू कर कहता है “तुम तीनो क्या बोल रहे हो, हाथी तो एक भाले की तरह नुकीला और लम्बा होता है ।”

चारो हाथी को अपने तरह से छू कर देखते है और अपने अनुभव के हिसाब से अनुमान लगाते है कि हाथी कैसा दीखता है और अपने आप को सही मानते है।

इसी तरह हम भी यही सोचते है कि हम जो कह रहे है वही सही है और दूसरा गलत है जबकि हमें हमेशा दूसरो के मत का भी सम्मान करना चाहिए जिससे कभी भी उनके साथ हमारे रिश्ते ख़राब नहीं होंगे ।

Also read – Hindi story for class 1 – लोमड़ी की चालाकी

Also read – Animal story in Hindi – भालू और लालची बन्दर

Also read – Friendship story in Hindi – चार बहानेबाज़ दोस्त

Also read – Hindi story for class 2 with moral pdf included – आत्मविश्वास

Also read – Story for kids in Hindi pdf included | ईमानदार बच्चे की कहानी

अगर आपको Hindi story with moral for class 6 – अपना-अपना मत कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्।

Leave a Comment

error: Content is protected !!