किसान के आलसी बेटे | Moral stories in Hindi for class 4

Moral stories in Hindi for class 4 – एक बार की बात है जब गांव मे एक बहुत मेहनती किसान रहता था, किसान के तीन बेटे थे । वैसे तो तीनो बेटे बड़े ही तंदरुस्त और हट्टे-कट्टे थे लेकिन बड़े ही अलसी थे । वे अपना सारा समय सोने मे बिताते या फिर यहाँ-वहां घुमते ।

किसान बूढा हो रहा था जिसके कारण उसे अपने तीनो बेटो की बड़ी चिंता होती थी कि उसकी मृत्यु के बाद उसके बच्चे अपना और अपने परिवार का पालन-पोषण कैसे करेंगे ।

किसान अपने तीनो बेटो को बार-बार समझाता था कि उन्हें किस तरह से खेत मे मेहनत करके फसल उगानी चाहिए ताकि वो भी धन कमा सके लेकिन तीनो बेटे नहीं समझते थे ।

एक दिन किसान को एक तरकीब सूझती है और वह अपने तीनो बेटो को बुलाता है और कहता है “देखो बच्चो, मै अब बूढा हो रहा हूँ, तो मेरी मृत्यु के बाद तुम्हारा जीवन चलता रहे इसके लिए मैने अपने खेत मे कई साल पहले ढेर सारे सोने के सिक्के छुपाये थे, तो मेरी मृत्यु के बाद तुम उसे खोदकर निकाल लेना और आपस मे बाँट लेना ।”

तीनो बेटे किसान की बात ध्यान से सुनते है और उनके मन मे लालच आ जाता है और वे आपस मे निर्णय लेते है कि वे अपने पिता की मृत्यु का इंतज़ार ना करते हुए अभी ही वह सारे सोने के सिक्के खेत से निकाल लेंगे ।

अगले दिन तीनो बेटे बिना अपने पिता को बताये सुबह-सुबह ही खेत की तरफ निकल जाते है और खेत पहुंचकर तुरंत खुदाई करना शुरू कर देते है ।

तीनो दिनभर मेहनत करके पूरे खेत की खुदाई कर देते है लेकिन उन्हें वहां एक भी सोने का सिक्का नहीं मिलता ।

तीनो बेटे निराश होकर घर वापस चले जाते है फिर अलगे दिन अपने पिता से पूछते है “पिताजी, आपने तो कहाँ था कि आपने खेत मे सोने के सिक्के छुपाए है लेकिन हमने तो पूरे खेत की खुदाई कर ली और हमें कुछ भी नहीं मिला ?”

किसान अपने बेटो की बात सुनकर मुस्कुराता है और उन्हें कहता है “अरे, तुमने अभी ही खेत की खुदाई कर दी, चलो ठीक है अब तुमने खुदाई कर ही दी है तो उसमे हम बीज भी बो देते है ।”

पिता की बात सुनकर तीनो बेटे समझ जाते है कि उनके पिता उन्हें क्या समझाना चाह रहे है और वे उस दिन से रोज़ अपने पिता के साथ खेत मे जाते और खूब मेहनत करते ।

इस Moral stories in Hindi for class 4 – किसान और आलसी बेटे कहानी की से हमें यह सीख मिलती है कि आलस मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन होता है, आलस करने से हमारा सभी काम ख़राब होता है ।

Also read – Hindi short story for kid – अपना-अपना काम

Also read – Hindi short story for class 1 – दोस्ती और भरोसा

Also read – Hindi short stories for kids – लालची चूहे की कहानी

Also read – Hindi short stories – गट्टू और उसके गुस्से की कहानी

Also read – Hindi short stories for class 1 – कामचोर गधे की कहानी

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे । धन्यवाद् ।

error: Content is protected !!