क्षमा का उपहार | Moral stories in Hindi for class 6

Moral stories in Hindi for class 6 – एक बार की बात है जब गांव मे एक डॉक्टर था, एक दिन डॉक्टर अपने एक मरीज़ का इलाज कर के अपने घर वापस आ रहा था । डॉक्टर के रास्ते मे एक सुनसान जगह पड़ती है और डॉक्टर जैसी ही उस सुनसान जगह पर पहुँचता है वहां झाड़ियों के पीछे से एक चोर उनके सामने आ जाता है ।

चोर के हाथ मे एक चाकू था और वह उसे डॉक्टर को दिखा कर कहता है “डॉक्टर, जितने भी पैसे है तुम्हारे पास, वो सारा मुझे दे दो, नहीं तो मै ये चाकू तुम्हारे पेट मे डाल दूंगा ।”

डॉक्टर एकदम घबरा जाता है और चोर से कहता है “सुनो भाई, कृपया मुझे छोड़ दो, मेरे पास थोड़े से ही पैसे है और वो भी मेरे एक मरीज़ की दवाई के है, कल मुझे उसे दवा लेकर देना है, वो बेचारा बहुत बीमार है ।”

चोर डॉक्टर की बात सुनकर गुस्से मे कहता है “अरे ओ डॉक्टर, मुझे कोई मतलब नहीं है कि वे पैसे किसके है, जल्दी से मुझे सारे पैसे दे दे नहीं तो मै तुझे चाकू मार दूंगा ।”

डॉक्टर बहुत डर जाता है और चोर को अपने पास रखे सारे पैसे दे देता है और चोर पैसे लेकर वापस झाड़ियों मे चला जाता है ।

थोड़ी दूर चलने के बाद ही चोर को एक सांप काट लेता है और चोर ज़ोर से चिल्लाता है और ज़मीन पर गिर जाता है ।

चोर की आवाज़ डॉक्टर को सुनाई देती है और डॉक्टर तुरंत भागते हुए चोर के पास आ जाता है ।

फिर डॉक्टर चोर से पूछता है “अरे भाई, क्या हुआ तुम्हे, तुमने इतने ज़ोर से क्यों चिल्लाया ? “

चोर जवाब देते हुए कहता है “डॉक्टर साहब, मुझे एक सांप ने काट लिया है, कृपया मुझे बचा लीजिये, मुझे बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही है ।”

डॉक्टर तुरंत अपने थैले से सामान निकालकर चोर का इलाज करता है और उसे कहता है “देखो भाई, मैंने अभी तुम्हारा शुरआती इलाज कर दिया है लेकिन बाकि के इलाज के लिए तुम्हे मेरे साथ मेरे चिकित्सालय चलना पड़ेगा ।”

चोर डॉक्टर को हां मे जवाब देता है और उसके साथ उसके चिकित्सालय आ जाता है ।

चिकित्सालय पहुंचकर डॉक्टर चोर का अच्छे से इलाज करता है और चोर की तकलीफ कम हो जाती है ।

फिर चोर डॉक्टर से कहता है “डॉक्टर साहब, मुझे क्षमा कर दीजिये, मैंने आपके पैसे लुटे और आपने मेरी जान बचाई।”

डॉक्टर जवाब देता है “देखो भाई, तुमने तुम्हारा काम किया और मैंने मेरा काम किया, लेकिन मै तुम्हे क्षमा तभी करूँगा जब तुम यह चोरी का काम छोकर कुछ अच्छा काम करना शुरू कर दोगे ।”

फिर चोर कहता है “डॉक्टर साहब, मै एक चोर हूँ और मुझे आस-पास के सारे गांव वाले जानते है तो मुझे कौन काम देगा ।”

डॉक्टर कहता है “ठीक है, आज से तुम मेरे पास काम करना और इस चिकित्सालय की देख-रेख करना ।”

इस तरह डॉक्टर चोर को क्षमा कर देता है और चोर चिकित्सालय मे काम करना शुर कर देता है जिससे उसका पूरा जीवन बदल जाता है ।

इस Moral stories in Hindi for class 6 – क्षमा का उपहार कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि जब भी कोई व्यक्ति आपके साथ कुछ बुरा करे तो उसे क्षमा कर देना चाहिए क्योकि इससे उस व्यक्ति को अपने किये पे पछतावा होता है और वह अपने व्यवहार को ठीक भी करता है ।

Also read – Hindi short story for kid – अपना-अपना काम

Also read – Hindi short story for class 1 – दोस्ती और भरोसा

Also read – Hindi short stories for kids – लालची चूहे की कहानी

Also read – Hindi short stories – गट्टू और उसके गुस्से की कहानी

Also read – Hindi short stories for class 1 – कामचोर गधे की कहानी

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे । धन्यवाद् ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!