मेहनत बड़ी या अक्ल | Short stories in Hindi for class 6

Short stories in Hindi for class 6 – एक बार की बात है जब अजय और अतुल नाम के दो दोस्त थे । दोनों एकदम पक्के दोस्त थे । साथ में ही पढाई ख़तम करने के बाद दोनों की एक ही कंपनी में नौकरी लग गई।

नौकरी लगने के बाद एक दिन दोनों ऑफिस के कैंटीन में बैठ कर बात करते है, अजय कहता है “सालो की मेहनत के बाद आखिर हमें नौकरी मिल ही गई ।”

अतुल कहता है “हां, लेकिन अब हमें और भी मेहनत करनी है ताकि हमें इस साल प्रोमोशन भी मिल जाए ।”

दोनों को काम करते हुए एक साल हो जाते है और प्रमोशन का समय आ जाता है और दोनों हमेशा की तरह कैंटीन में बैठकर बाते कर रहते थे ।

अजय कहता है “अतुल, मुझे लगता है कि इस साल तो मुझे ही प्रमोशन मिलेगा, तू अगले साल के लिए तैयारी कर ।”

अतुल हँसता है और कहता है “अजय, मुझे तो लगता है कि इस साल मुझे ही प्रमोशन मिलेगा और तू अगले साल की तैयारी में लग जा ।”

दोनों एक दुसरे की बात पर हंसाने लगते है तभी वहा उनके बॉस आ जाते है और अतुल को एक लिफाफा देकर प्रमोशन के लिए बधाई देते है और अजय को अगले साल के लिए और मेहनत करने की सलाह देते है और वहा से चले जाते है ।

अजय उदास हो जाता है और अतुल उसे सांत्वना देते हुए कहता है “कोई बात नहीं मेरे दोस्त, हम दोनों ने बहुत मेहनत की है लेकिन हो सकता है कि हमारे बॉस को तेरी मेहनत में कोई कमी दिखी हो ।”

अतुल की बात सुनकर अजय गुस्से में आ जाता है और तुरंत बॉस के पास जाता है और कहता है “बॉस, मै अभी तुरंत यह नौकरी छोड़ना चाहता हूँ ।”

बॉस अजय की बात सुनकर आश्चर्य में पड़ जाते है और उससे पूछते है “अचानक तुम्हे क्या हो गया अजय, तुम नौकरी क्यों छोड़ना चाहते हो ?”

अजय कहता है “बॉस, मै और अतुल पिछले एक साल से बराबर की मेहनत कर रहे है लेकिन फिर भी आपने सिर्फ अतुल को ही प्रमोशन दिया, ये तो बहुत गलत बात है, आपने ऐसा क्यों किया ?”

बॉस कहते है “देखो अजय मै जनता हूँ कि तुमने भी बहुत मेहनत किया है लेकिन उतना नहीं जितना तुम्हे करना चाहिए था ।”

बॉस की बात सुनकर अजय और गुस्सा जाता है और कहता है “बॉस, मुझे अब यह नौकरी करनी ही नहीं है, मै अभी यह नौकरी छोड़कर जा रहा है ।”

बॉस कहते है “अच्छा ठीक है अजय, मै तुम्हे भी प्रमोशन देने को तैयार हूँ और तुम्हे अतुल से ज्यादा तनख्वा भी दूंगा, लेकिन उसके लिए तुम्हे मेरा एक काम करना पड़ेगा ।”

बॉस की बात सुनकर अजय खुश हो जाता है और कहता है “बॉस, बताइये क्या काम है, मै ज़रूर करूँगा ?”

बॉस कहते है “तुम अभी पास के बाजार में जाओ और पाता लगाओ की कितने लोग आम बेच रहे है ।”

अजय कहता है “ठीक है बॉस, अभी जाता हूँ और पाता लगा कर आता हूँ ।”

फिर थोड़ी देर बाद अजय बाजार से वापस आता है और कहता है “बॉस, बाजार में तो अभी सिर्फ एक आदमी ही आम बेच रहा है।”

बॉस कहते है “ठीक है, अब तुम फिर से बाजार जाओ और पाता लगाओ कि वह आम कितने रूपये किलो बेच रहा है ।”

अजय फिर से बाजार जाता है और पूछ कर आता है और बॉस से कहता है “बॉस, वह आम साठ रूपये किलो में बिक रहा है । “

बॉस कहते है “ठीक है, अब तुम अतुल को यहाँ पर बुलाओ, मै यही काम उसे भी दूंगा।”

कुछ देर बाद अतुल वह पर आता है और बॉस उसे भी कहते है “अतुल, तुम अभी पास वाले बाजार जाओ और पाता लगाओ कि कितने लोग आम बेच रहे है ।”

अतुल हां में अपना सिर हिलता है और बाजार चला जाता है और थोड़ी देर बाद बाजार से वापस आकर अपने बॉस से कहता है “बॉस, बाजार में सिर्फ एक आदमी ही आम बेच रहा है और वो भी साठ रुपये किलो में ।

लेकिन, अगर हम उसके सारे आम खरीद ले तो वह पचास रुपये किलो में देने को तैयार है और उसके पास कुल पचास किलो आम है, तो अगर हम पचास किलो आम पचास रुपये के हिसाब से ले ले और उसे साठ रूपये में फिर से बेच दे तो हमें बहुत फायदा होगा ।”

अतुल की बात सुनकर अजय आश्चर्य में पड़ जाता है लेकिन उसे समझ में आ जाता है कि सिर्फ मेहनत करने से काम नहीं बनेगा, उसे मेहनत के साथ-साथ अक्ल का भी उपयोग करना सीखना होगा ।

इस Short stories in Hindi for class 6 – मेहनत बड़ी या अक्ल कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें हमेशा मेहनत के साथ-साथ अपनी अक्ल का भी उपयोग करना चाहिए जिससे हमें जल्दी सफलता मिलती है ।

Also read – Hindi story for class 1 – लोमड़ी की चालाकी

Also read – Animal story in Hindi – भालू और लालची बन्दर

Also read – Friendship story in Hindi – चार बहानेबाज़ दोस्त

Also read – Hindi story for class 2 with moral pdf included – आत्मविश्वास

Also read – Story for kids in Hindi pdf included | ईमानदार बच्चे की कहानी

अगर आपको Short stories in Hindi for class 6 – मेहनत बड़ी या अक्ल कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद्।

Leave a Comment

error: Content is protected !!