चूहा और शेर | Short story in Hindi for kids

Short story in Hindi for kids – एक बार की बात है जब जंगल में एक शेर एक पेड़ के नीचे गहरी नींद में सो रहा था, तभी वहां पर एक चूहा भागते हुए आता है और गलती से शेर से टकरा जाता है ।

शेर की नींद खुल जाती है और वह उस चूहे को पकड़ लेता है । शेर चूहे से कहता है “अरे मुर्ख चूहे, तूने मेरी नींद ख़राब कर दी, अब मै तुझे नहीं छोडूंगा, तुझे खा जाऊंगा ।”

चूहा एकदम डर जाता है और शेर से माफ़ी मंगाते हुए कहता है “शेर जी, आप तो जंगल के राजा है, दयालु है, कृपया मुझे माफ़ कर दीजिये, मै गलती से आप से टकरा गया, मेरा ध्यान कही और था भागते समय ।”

फिर शेर कहता है “तूने मेरी नींद ख़राब की है, मै तुझे नहीं छोड़ chodunga”

चूहा शेर से फिर आग्रह करता है “शेर जी, कृपया मुझे छोड़ दीजिये, अगर आज आप मुझे छोड़ देंगे तो आगे मै भी कभी आपके काम आऊंगा ।”

चूहे की बात सुनकर शेर को हंसी आ जाती है और वह चूहे से कहता है “अरे चूहे, मै जंगल का राजा और तू इतना छोटा सा चूहा है, तू मेरे क्या काम आएगा ।”

शेर को चूहे का आत्मविश्वास  पसंद आता है और वह चूहे को छोड़ देता है ।

कुछ दिन बाद जंगल में एक शिकारी आता है और शेर को पकड़ने के लिए जाल बिछा देता है, शेर चलते हुए उस जाल को देख नहीं पता और उसमे फस जाता है ।

उसी रास्ते से वही चूहा जा रहा होता है और तभी उसकी नज़र पिंजरे में फसे शेर की तरफ पड़ती है ।

चूहा तुरंत शेर के पास आता है और पिंजरे को कुतर कर शेर को उससे बाहर निकाल देता है ।

फिर चूहा शेर से कहता है “शेर जी, देखा आपने, मैंने आपसे कहा था ना, किसी दिन मै भी आपने काम आऊंगा”

शेर जाल से निकलते ही चूहे का धन्यवाद् करता है और कहता है “चूहा, मुझे माफ़ करना, उस दिन मैंने तुम्हारे छोटे होने का मज़ाक उड़ाया था, लेकिन आज तुमने मेरी जान बचाई ।”

इस घटना के बाद से शेर और चूहा एकदम गहरे दोस्त बन जाते है।

इस Short story in Hindi for kids – चूहा और शेर की कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें कभी भी किसी को छोटा नहीं समझना चाहिए, हर व्यक्ति में हर काम करने की क्षमता होती है, किसी में शारीरिक क्षमता तो किती में मानसिक क्षमता ।

Also read – Hindi short story pdf included – एक घमंडी मुर्गा

Also read – Short stories for kids in Hindi – हाथी और शेर की कहानी

small short stories with moral values in Hindi – बदमाश बंदरो की कहानी

Also read – Short moral stories in Hindi for class 1 – तोता और आम का पेड़

Also read – Panchatantra short stories in Hindi with moral – मेंढक और सांप की कहानी

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे । धन्यवाद् ।

error: Content is protected !!