ईमानदार गाय | Short story in Hindi with moral values

Short story in Hindi with moral values – एक बार की बात है जब जंगल के पास एक गांव मे एक गाय अपने बछड़े के साथ रहती थी ।  गाय रोज़ सुबह जंगल मे घास चरने जाती और शाम को वापस अपने घर आकर अपने बच्चे को दूध पिलाती ।

एक दिन गाय जब जंगल मे घास चर के वापस आ रही थी तो उसे एक भूखा शेर पकड़ लेता है ।

गाय शेर से कहती है “शेर जी, कृपया मुझे छोड़ दीजिये, मेरा एक छोटा बच्चा है ।”

शेर कहता है “अरे, छोटा बच्चा है तो क्या हुआ, मैंने भी तीन दिन से कुछ नहीं खाया है, मै बहुत भूखा हूँ, तुम्हे छोड़ दूंगा तो मै क्या खाऊंगा ।”

फिर गाय कहती है “शेर जी, आप अभी मुझे छोड़ दीजिये, मेरा बच्चा मेरी प्रतीक्षा कर रहा होगा, मै जा के उसे दूध पिलाऊंगी और तुरंत वापस आपके पास आ जाउंगी ।”

गाय की बात सुनकर शेर हंसता है और कहता है “तुम मुझे मुर्ख समझती हो क्या, अगर मैंने तुम्हे छोड़ दिया, तो तुम वापस नहीं आओगी ।”

गाय शेर से कहती है “शेर जी, मै आपको वचन देती हूँ, मै अपने बच्चे को दूध पिलाकर ज़रूर वापस आउंगी ।”

गाय की बात सुनकर शेर को दया आ जाती है और वह उसकी बात मान लेता है और उसे कहता है “ठीक है, मै तुम्हे अभी छोड़ रहा हूँ, लेकिन मै यही खड़ा रहकर तुम्हारी प्रतीक्षा करूँगा ।”

गाय शेर को हां मे जवाब देती है और वह से अपने घर वापस आ जाती है ।

गाय घर पहुंचकर अपने बछड़े को दूध पिलाती है उसे प्यार देती है और वापस जंगल मे आ जाती है ।

जंगल पहुंचकर गाय देखती है कि शेर वहां नहीं खड़ा था, जहां वे दोनों मिले थे, गाय कुछ देर तक शेर को आस-पास ढूंढती है और फिर आवाज़ लगाकर शेर को बुलाती है ।

कुछ देर बाद गाय की आवाज़ सुनकर शेर वहां आता है और गाय को वहां खड़ा देख आश्चर्य चकित रह जाता है ।

फिर शेर गाय से कहता है “अरे गाय, तुम वापस आ गई, मैंने तो सोचा था कि तुम वापस नहीं आओगी ।”

शेर की बात सुनकर गाय कहती है “शेर जी, मैंने आपको वचन दिया था कि मै वापस ज़रूर आउंगी, तो मै वापस कैसे नहीं आती, आप भी तीन दिन से भूखे है ।”

गाय की बात सुनकर और उसकी ईमानदारी देखकर शेर का ह्रदय पिघल जाता है और शेर गाय को छोड़ देता है और उसे कहता है कि आज से वह गाय की दुसरे जानवरो से हमेशा रक्षा करेगा ।

इस Short story in Hindi with moral values – ईमानदार गाय की कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें हमेशा सच बोलना चाहिए और हमेशा ईमानदारी दिखानी चाहिए । ऐसा व्यवहार हमेशा हमें आगे बढ़ने मे मदद करता है ।

Also read – Hindi short story for kid – अपना-अपना काम

Also read – Hindi short story for class 1 – दोस्ती और भरोसा

Also read – Hindi short stories for kids – लालची चूहे की कहानी

Also read – Hindi short stories – गट्टू और उसके गुस्से की कहानी

Also read – Hindi short stories for class 1 – कामचोर गधे की कहानी

अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे । धन्यवाद् ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!