परेशानियों का सामना – Small story in Hindi

Small story in Hindi – एक बार की बात है। शाम का समय था। जंगल में काली घटाएं छाई हुई थी। काली घटाओं के कारण जंगल में बिजली गिर गई और जंगल में आग लग गई थी। उस जंगल में एक सुनहरे बालों की बहुत सुंदर हिरणी रहती थी। वह शाम को एक नदी किनारे पानी पीने के लिए आई।

उस समय उसने नदी के अन्दर अपनी चिंता भरी परछाई देखी। उसके चेहरे पर चिंता दिख रही थी। क्योंकि जंगल की आग में उसका घर जल चुका था और उसे अपने बच्चों को जन्म देना था। वह हिरणी तीन महीने से गर्भवती थी। तभी उस हिरणी ने सोचा कि वह अपने बच्चों को जन्म इस नदी के किनारे ही कहीं अच्छी जगह पर देगी।

अचानक से हिरणी को नदी के किनारे झाड़ियों में से कुछ आहट सुनाई दी। तभी उसने अपनी तिरछी नजर से उन झाड़ियों की ओर देखा तो उसे एक परछाई दिखाई दी। उन झाड़ियों में एक शिकारी शिकार करने के लिए अपनी बन्दुक में गोलियां भर रहा था। वह उस हिरणी का शिकार करने की सोच रहा था। हिरणी पहले से ही बहुत घबराई हुई थी और उस शिकारी को देखकर ओर घबरा गई।

हिरणी ने मन ही मन वहां से भागने की सोची। जैसे ही वह भागने लगी तो उसने अपने सामने अपनी मौत को खड़े हुए देखा। उसके सामने एक खूखार शेर खड़ा था। वह शेर भी उस हिरणी को अपना शिकार बनाने की सोच रहा था। हिरनी ने चारों तरफ देखा जिसमें एक तरह वह शिकारी, दूसरी तरफ शेर, तीसरी तरफ जंगल की आग और चौथी तरफ वह नदी हिरणी चारों तरफ से घिर चुकी थी।

उसने मन ही मन सोचा इस नदी को पार करना उसके बस की बात नहीं। पीछे जंगल की आग है। एक तरफ शिकारी उसका शिकार करेगा और एक तरफ शेर उसे अपना भोजन बनाएगा। हिरणी ने बहुत सोचा अपनी जान बचाने के लिए। लेकिन कोई रास्ता नहीं मिला। फिर हिरणी ने मन ही मन सोचा कि मरना ही है तो डरना किस बात से।

मौत चारों तरफ है। अब तो शान से मरेंगे। मानो उस हिरणी का दिमाग सटक गया था। ऐसा सोच कर हिरणी सीना तानकर शिकारी के सामने खड़ी हो गई और आंखें बंद करके भगवान से इस जीवन के लिए शुक्रिया करने लगी और जीवनदान मांगने लगी। तब तक शिकारी अपनी बन्दुक में गोलियां भर चुका था

और वह बन्दुक को हिरणी की तरफ करके कंधे पर बन्दुक रख कर हिरणी को निशाना बना ही रहा था कि एक अजीब सी घटना वहां पर घटी। जंगल की आग से एक चिंगरी उछली और वह चिंगारी शिकारी की आंख पर आ लगी, वह शिकारी अंधा हो गया। शिकारी का निशाना हिरणी की ओर से चुक गया और शेर की और घूम गया शेर वहीं पर घायल हो गया और वहीं गिर गया।

बिजली की गर्जना के साथ वहां पर बूंदों के रूप में बारिश होनी शुरू हो गई। बारिश होने से मौसम बहुत ही सुहावना हो गया और जंगल में लगी आग भी बारिश के कारण बंद हो गई। इस सुहावने मौसम में हिरणी ने तीन बच्चों को जन्म दिया।

कहानी से हमें यह सीख मिलती है की हमें कभी अपने जीवन में परेशानियों से पीछे नहीं हटना चाहिए। समस्या तो हमारे जीवन में आएगी, इसका मुकाबला करना चाहिए न कि इससे डरना चाहिए। खुल कर समस्याओं का सामना करें और भगवान पर भरोसा करें। भगवान सबका भला ही करता है।

Also read – अनैतिकता की मिठाई – Hindi kahani cartoon

Also read – चतुर बीरबल | Akbar Birbal Hindi short story

Also read – व्यापारी और उसका गधा – Story Hindi Cartoon

Also read – घमंडी चूहा | Panchatantra short stories in Hindi

Also read – पिता, पुत्र और गधे की सवारी – Panchatantra stories Hindi

Also read – शिकारी, राजा और तोता – Panchatantra stories in Hindi pdf

Also read – दाने दाने पर लिखा है खाने वाले का नाम – Hindi cartoon kahani

Also read – तेनाली रमन और राजा के घोड़े – Stories of Tenali Raman in Hindi

अगर आपको Small story in Hindi – परेशानियों का सामना कहानी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने साथियो के साथ शेयर करे। धन्यवाद् ।

error: Content is protected !!